31 साल बाद आईएएस अधिकारी बनकर इस बेटी ने लिया अपने पिता की मौत का बदला, कहानी जानकर भर आएंगी आखें

0
526

आज हम एक ऐसी कहानी बताने जा रहे हैं जिसे सुनकर आपकी आंखे तो भर आएंगी लेकिन आपके अंदर कुछ कर गुजरने का जज्‍बा अगर सो गया होगा तो वो भी जाग जाएगा। जी हां आज जिस लड़की और मां की कहानी हम बताने जा रहे हैं उसके बारे में जानकर आपको भी उसे सलाम करने का दिल करेगा। दरअसल हम आपको बता रहे हैं एक ऐसी लड़की की कहानी जो अपने बचपन के दिनों से ही अपनी जिम्‍मेदारियों को समझने लगी थी जिस उम्र में बच्‍चे खेलते हैं उस उम्र में वो अपनी मां विभा के साथ दिल्ली के सुप्रीम कोर्ट के चक्‍कर लगती थी।

दरअसल उसकी मां विभा भी एक साहसी और मजबूत सिंगल मदर साबित हुई उसने अपना पूरा जीवन बच्‍चों में लगा दिया उसके पति डीएसपी केपी सिंह थें जिनकी मृत्यु के बाद उसने अपने बच्‍चों को बड़ी बहादुरी से बड़ा किया। पति की मृत्यु के बाद विभा को वाराणसी के ट्रेज़री में नौकरी मिली और इस नौकरी के बल पर उसने अपनी दोनों बेटियों किंजल और प्रांजल की शिक्षा दिक्षा संपन्‍न की और साथ ही अपने पति के लिए न्याय की तलाश में भी लगी रहीं। करीब 31 साल तक सब कुछ ऐसा ही चलता रहा लेकिन उसे न्याय नहीं मिल गया। इनके पति की मृत्‍यु एक मुठभेड़ में हुई थी।

लेकिन इनकी बेटी किंजल जो उनके साथ अपने घर से दिल्ली सुप्रीम कोर्ट तक आने जाने का जिम्‍मा उठाया था उसने कड़ी मेहनत कर अपनी पढाई भी पूरी की और फिर लेडी श्री राम कॉलेज में प्रवेश लिया लेकिन एक बार फिर इन दोनों बहनों के किस्‍मत ने इन्‍हें धोखा दे दिया अचानक जांच में पता चला की उनकी मां को कैंसर है वो पहले ही अपने पिता को खो चुकी थी लेकिन अब मां को नहीं खोना चाहती थी इसलिए जब उनकी मां को यकीन हो गया कि उनकी दोनों बेटियां IAS अधिकारी बनने जा रही हैं और दोनों अपने पिता की मृत्यु के लिए न्याय प्राप्त कर सकेंगीं तो वो शांति से मर सकीं।

LEAVE A REPLY